Reading Time: 3 minutes

डायबिटीज़ से ग्रसित होने के बाद आहार पर नियंत्रण रखना तो ठीक है, लेकिन शराब पीने के बारे में क्या सलाह है? फिर चाहे आप कभी–कभार शराब पीते हों, या हर रोज. डायबिटीज़ का पता चलने के बाद ये सवाल आपके ज़ेहन में कौंधना लाज़मी है, कि क्या अल्कोहल के सेवन से ख़ून में शुगर बढ़ता है, या एकाध ड्रिंक ली जा सकती है?

ऐसे में पेश हैं कुछ जानकारियां जो आपको सही फ़ैसला लेने में मदद करेंगी.

डायबिटीज़ पर अल्कोहल का प्रभाव

शराब पीने के फ़ौरन बाद ख़ून में शुगर की मात्रा तेज़ी से कम होती है (हाइपोग्लाइसेमिया) जिसका असर 24 घंटे तक रह सकता है. आमतौर पर इस स्थिति की भरपाई लीवर अपने इमर्जेंसी स्टोर से ग्लूकोज़ को रिलीज़ करने से कर देता है. लेकिन चूंकि अल्कोहल लीवर में ग्लूकोज बनने की प्रक्रिया रोक देता है, ऐसे में ख़ून में शुगर की ज़रूरत से ज़्यादा कमी हो सकती है, जो कि घातक है.

इसके अलावा हाइपोग्लाइसीमिया के लक्षण कुछ वैसे ही होते हैं, जैसे ज़रूरत से ज़्यादा शराब पीने पर होती है. यानी भ्रम, चक्कर आना और उनींदापन महसूस करना. लेकिन ऐसी अवस्था में आपको या आपके आसपास के लोगों को ये पता नहीं चल पाता कि आप ख़तरे में हैं. (1)

इसे भी पढ़ें: स्मोकिंग और डायबिटीज़: जानें, इस घातक कॉम्बिनेशन से आपको बचने की ज़रूरत क्यों है

 

अगर अब आप ये कहते हैं कि ज़रूरत से ज़्यादा पीना ख़राब बात है, तो ठीक है. लेकिन ये पता कैसे चले कि ज़रूरत से ज़्यादा कितना होता है?”

काम की बात: डायबिटीज़ है तो ड्राइव करने के पहले बरतें ये सावधानियां 

कितनी शराब पीना सही हैं?

डॉक्टरों की मानें तो डायबिटीज़ से ग्रसित लोग कम मात्रा में नियंत्रित होकर शराब पी सकते हैं. दरअसल ये उतनी ही मात्रा होती है जो नॉन डायबिटिक लोगों के लिए भी सुरक्षित मानी जाती है. अमेरिकन डायबिटीज़ असोसियेशन ® (एडीए) का कहना है कि पुरुषों को प्रतिदिन 2 पैग से ज़्यादा और महिलाओं को 1 पैग से ज़्यादा शराब नहीं पीनी चाहिए. ग़ौर करनेवाली बात है कि यहाँ एक पैग का मतलब एक गिलास वाइन, या बीयर का एक पिंट या जिन, रम, वोदका या व्हिस्की का 30 एमएल है.

शराब पीने के दौरान इन निर्देशों का पालन करें:

  • कभी खाली पेट शराब न पिएं. शराब के साथ भोजन ज़रूर करें.
  • अपने पैग में कोई तरल (लिक्विड) मिलाकर अल्कोहल डाइल्यूट करें. लेकिन कैलोरीयुक्त तरल न लें. बर्फ़ या पानी सबसे बेहतर है.
  • अगर आप इन्सुलिन लेते हैं, तो अपने डॉक्टर से सलाह लें, कि जिस दिन आपको शराब पीनी है, उस दिन इन्सुलिन की मात्रा कम करने की ज़रूरत तो नहीं.
  • वैसी ड्रिंक्स न पियें, जिनमें अल्कोहल की मात्रा ज़्यादा हो.(1,2)

क्या डायबिटीज़  की दवाओं पर अल्कोहल का असर होगा?

अल्कोहल का असर खानेवाली कुछ हाइपोग्लाइसेमिक दवाओं पर पड़ता है, जिससे सिरदर्द और उल्टी होती है. ये पाया गया है कि डायबिटीज़ में कभी-कभार शराब पीने से इस दवा का असर बढ़ जाता है, लेकिन लगातार शराब पीने से दवा का असर कम हो जाता है(3)

चलिये, मान लेते हैं कि आपको फ़िलहाल किसी प्रकार का डायबिटीज़ नहीं है, लेकिन अगर डायबिटीज़ हो जाए तो शराब से जुड़ी इन सच्चाईयों को ध्यान में रखना ज़रूरी है:

क्या शराब पीने से डायबिटीज़ से जुड़ी समस्याएं बढ़ जाती हैं?

डायबिटीज़ का असर जिनकी धमनियों पर पड़ा हो अल्कोहल ऐसे लोगों में दर्द का असर बढ़ा देता है. (1,2)

जिन लोगों में ट्राईग्लाइसराइड का स्तर ज़्यादा हो उन्हें ख़ास सावधानी बरतने की ज़रूरत है. अल्कोहल इसकी मात्रा और बढ़ा सकता है. इससे पैन्क्रियाटाइटिस यानी पैन्क्रियास में जलन की आशंका बढ़ जाती है, और डायबिटीज़ से सुरक्षा देने वाले इन्सुलिन की मात्रा कम हो जाती है.(4)

ज़्यादा शराब पीने से देखने की क्षमता कम हो सकती है. साथ ही डायबिटीज़ के दौरान  आंखों से जुड़ी बीमारियों की आशंका भी बढ़ जाती  है. (4,5)

साधारण शब्दों में कहा जाए, तो डायबिटीज़ में शराब पीना तब तक सही है, जब तक सीमित मात्रा में पिया जाए. किसी भी हालत में ज़्यादा शराब पीना परेशानियां पैदा करता है.

और अगर आप ये सोचकर शराब पी रहे हैं, कि ये ख़ून में शुगर की मात्रा आसानी से कम कर देगी, तो ऐसा मत सोचिये. अल्कोहल के असर की भविष्यवाणी करना लगभग नामुमकिन है. लिहाज़ा शुगर कम करने के लिए पीने का खतरा उठाना सही नहीं है. शुगर कम करने के लिये भोजन का सही प्रबंधन करें, शारीरिक व्यायाम, दवाएं और तनाव मुक्त ज़िंदगी जैसे उपायों को आजमाएं .

फ़ोटो साभारStoryblocks

संदर्भ:

(1) American Diabetes Association. Alcohol. Retrieved on: September 20, 2017. Available at http://www.diabetes.org/food-and-fitness/food/what-can-i-eat/making-healthy-food-choices/alcohol.html

(2) L.H. Seng, J. Seah, M. Cheong, T.L. Jen. The Diabetes Companion. Singapore: Marshall Cavendish Editions. 2009. Available at https://books.google.co.in/books?id=YSWJAAAAQBAJ&pg=PA56&lpg=PA56&dq=alcohol+and+deepavali&source=bl&ots=IQvNfLPE2n&sig=K4FqCsp1isvScFQw8j-zV3d9sro&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwjOyvbAjPfWAhXJsY8KHURVA404ChDoAQhHMAY#v=onepage&q=alcohol%20and%20deepavali&f=false. Chapter – Alcohol, Page numbers 55-56

(3) National Institute on Alcohol Abuse and Alcoholism. No. 27 PH 355 January 1995. Available at https://pubs.niaaa.nih.gov/publications/aa27.htm

(4) N. V. Emanuele, T.F. Swade, M.A. Emanuele. Consequences of Alcohol Use in Diabetics. Alcohol Health and Research World. 1998. 22(3); 211-219 Available at: https://pubs.niaaa.nih.gov/publications/arh22-3/211.pdf

(5) C.C. Lee, R.P. Stolk, A.I. Adler, A. Patel, J. Chalmers, B. Neal et al. Association between alcohol consumption and diabetic retinopathy and visual acuity-the AdRem Study. Diabet Med. 2010 Oct; 27(10); 1130-7. DOI: 10.1111/j.1464-5491.2010.03080.x.

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.