snacking diabetes recipes healthy eating
Reading Time: 3 minutes

डायबिटीज़ से ग्रसित लोगों को इस बात पर ध्यान देना ज़रूरी होता है कि उनका ब्लड शुगर लेवल संतुलित रहे. ब्लड शुगर लेवल के हाई होने से आपको सर दर्द, नज़र का धुंधला हो जाना, शरीर में पानी की मात्रा कम होने जैसा महसूस हो सकता है. ब्लड शुगर लो होने पर आप भ्रमित होने, चक्कर आने, चिड़चिड़ापन, भूख और कांपने जैसी स्थिति का सामना कर सकते हैं.(1)

आपके ब्लड शुगर का लेवल आप क्या और कितना खाते हैं, इसपर निर्भर करता है. आपका शरीर कार्बोहायड्रेट्स को फ़ौरन शुगर में बदल देता है, जिसे हम ग्लूकोज़ कहते है. जो आपके ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाता है. फ़ैट्स और प्रोटीन भी ग्लूकोज़ में परिवर्तित होते हैं, लेकिन साधारण कार्बोहायड्रेट के मुक़ाबले बहुत ही धीमी रफ़्तार में. मिसाल के तौर पर कैंडी, टेबल शुगर, सिरप और सॉफ्ट ड्रिंक्स.

डायबिटिक लोगों को खाने के बीच में लंबा गैप क्यों नहीं करना चाहिए?

लंबे समय तक कुछ ना खाने और पर्याप्त मात्रा में तरल चीज़ें ना लेने से आपके ब्लड शुगर लेवल में उतार-चढ़ाव आता है, और आप बहुत प्यासा महसूस कर सकते हैं. इससे अचानक आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत कम हो सकता है (जिसे हायपोग्लाइसिमिया कहते हैं) इसमें शरीर सुन्न पड़ सकता है, बेहोशी हो सकती है.वहीं, खाने के बाद सही मात्रा में पानी न पीने से अचानक ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ सकता है (इसे हाइपरग्लाइसिमिया के तौर पर जाना जाता है), जो सरदर्द, नज़र में धुंधलापन, बहुत ज़्यादा थकान और प्यास लगने की वजह बन सकता है.

लंबे समय तक ब्लड शुगर लेवल के हाई रहने पर, आप डायबिटिक कीटोएसिडोसिस की स्थिति में चले जाते हैं. जो डायबिटीज़ को ख़तरनाक बना सकता है. यह बेहद गंभीर शारीरिक समस्या है, जहां आपका शरीर ज़रूरत से ज़्यादा एसिड्स (केटोंस) उत्पन्न करने लगता है. वहीं, इन्सुलिन के स्तर में बहुत ज़्यादा गिरावट आने (मसलन, इन्सुलिन का इंजेक्शन या दवाएं ना लेने) से भी कीटोएसिडोसिस की स्थिति पैदा हो सकती है. ऐसा होने पर ख़ून और पेशाब में केटोंस इकट्ठे होने लगते हैं. जिसकी वजह से आप उल्टी आने, प्यास लगने, सांस लेने में तकलीफ़, भ्रमित होने जैसा महसूस कर सकते हैं. इतना ही नहीं कई बार बहुत गंभीर हालात में डायबिटीज़ से ग्रसित व्यक्ति कोमा में भी जा सकता है.(2)

जानें, क्यों है डायबिटीज़ में स्नैक्स मददगार

खाने के बीच नियमित अंतराल में हेल्दी स्नैक्स लेते रहने पर ब्लड शुगर लेवल को संतुलित बनाए रखने में मदद मिलती है, और हायपोग्लाइसिमिक या हायपरग्लाइसिमिक की स्थिति में जाने से बचा जा सकता है. पर ध्यान रहे, हेल्दी स्नैक्स कहने का ये मतलब बिल्कुल नहीं कि आप बिस्किट्स, कुकीज़, मफ़िन्स, चिप्स और फरसान जैसा ज़्यादा मीठा और कार्ब्स युक्त स्नैक्स लें. ऐसा करने पर आपके ब्लड शुगर लेवल का संतुलन बिगड़ सकता है, इसलिए ऐसी चीज़ों से दूरी बनाएं.

इसकी बजाय आप इन डायबिटीज़ फ़्रेंडली हेल्दी स्नैक्स को आज़मा सकते हैं.

भोजन के बीच में खाए जाने वाले 5 बेहतरीन स्नैक्स

  1. मिक्स दाल ढोकलाइस रेसिपी में कई तरह की दाल शामिल हैं, जो कि फ़ाइबर और प्रोटीन से भरपूर होती हैं. जिससे ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम करने में मदद मिलती है.(3)


वीडियो साभार: YouTube/Speak Health

  1. स्वादिष्ट भेल

    फ़ाइबर और फलों से भरपूर इस स्वादिष्ट भेल में मिक्स स्प्राउट्स शामिल किए जाते हैं जो आपके ब्लड ग्लूकोज़ लेवल को कम होने से बचाता है.


वीडियो साभार: YouTube/Tarla Dalal

3. खंडवी

इसे बनाने के लिए बेसन का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें भरपूर मात्रा में फ़ाइबर और प्रोटीन के साथ ही कई विटामिन्स और मिनरल्स भी पाए जाते हैं. इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी काफ़ी कम होता है.(4)


वीडियो साभार:YouTube/Bhavna’s Kitchen

4.करेला मुठिया

डाइट्री फ़ाइबर से भरपूर करेले में मैग्नीशियम, विटामिन्स और पोटैशियम पाया जाता है(5)


वीडियो साभारYouTube/Tarla Dalal

5. गोभी और पालक की टिक्की 

गोभी में ब्लड ग्लूकोज़ लेवल को कम करने, किडनी से जुड़े रीनल फ़ंक्शन को सुधारने और एंटी-हाइपरग्लाइसेमिक की ख़ूबी पाई जाती है.(6, 7) वहीं, पालक में भरपूर फ़ाइबर होता है.(8)


वीडियो साभार:YouTube/MyFoodCourt

आप चाहें तो डायबिटीज़ फ़्रेंडली इन रेसिपी को भी देख सकते हैं.

फ़ोटो साभार:Anna Pelzer on Unsplash

 

संदर्भ

  1. Hyperglycemia and hypoglycemia in type 2 diabetes. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmedhealth/PMH0072694/
  2. Diabetic Ketoacidosis (DKA). https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmedhealth/PMHT0024412/
  3. Higgins JA. Whole Grains, Legumes, and the Subsequent Meal Effect: Implications for Blood Glucose Control and the Role of Fermentation. Journal of Nutrition and Metabolism. 2012;2012:829238. doi:10.1155/2012/829238.
  4. Augustin LSA, Chiavaroli L, Campbell J, et al. Post-prandial glucose and insulin responses of hummus alone or combined with a carbohydrate food: a dose–response study. Nutrition Journal. 2016;15:13. doi:10.1186/s12937-016-0129-1.
  5. Yin RV, Lee NC, Hirpara H, Phung OJ. The effect of bitter melon (Mormordica charantia) in patients with diabetes mellitus: a systematic review and meta-analysis. Nutrition & Diabetes. 2014;4(12):e145-. doi:10.1038/nutd.2014.42.
  6. Kataya HAH, Hamza AA. Red Cabbage (Brassica oleracea) Ameliorates Diabetic Nephropathy in Rats. Evidence-based Complementary and Alternative Medicine : eCAM. 2008;5(3):281-287. doi:10.1093/ecam/nem029.
  7. Jung HA, Karki S, Ehom N-Y, Yoon M-H, Kim EJ, Choi JS. Anti-Diabetic and Anti-Inflammatory Effects of Green and Red Kohlrabi Cultivars (Brassica oleracea var. gongylodes). Preventive Nutrition and Food Science. 2014;19(4):281-290. doi:10.3746/pnf.2014.19.4.281.
  8. Bunzel M, Seiler A, Steinhart H. Characterization of dietary fiber lignins from fruits and vegetables using the DFRC method. J Agric Food Chem. 2005 Nov 30;53(24):9553-9. PubMed PMID: 16302776.

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.