Reading Time: 3 minutes

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) की तरफ़ से महामारी घोषित किए जा चुके नए कोरोना वायरस डिज़ीज़, COVID ​​-19 की जब चीन के वुहान शहर से शुरुआत हुई थी, उस समय ग़लती से इसे निमोनिया जैसी कोई अनजान बीमारी समझ लिया गया था. इस इन्फेक्शन की चपेट में आने वाले ज़्यादातर लोगों में सांस की बीमारी वाले हल्के या कुछ गंभीर लक्षण नज़र आते हैं. यह बीमारी इन्फ़ेक्शन का शिकार हुए व्यक्ति के खांसने या छींकने से निकली बूंदों या लार के ज़रिए दूसरे व्यक्ति में फैलती है.(1) इस इन्फ़ेक्शन का संकेत देने वाले सबसे आम लक्षणों में बुख़ार, सूखी खांसी और सांस की तकलीफ़ शामिल हैं.(2)

लेकिन गंभीर इन्फ़ेक्शन के मामलों में, ऐसे लोगों को ज़्यादा जोखिम(3) वाली कैटगरी में रखा जा सकता है, जिनकी उम्र 60 साल से ऊपर है या जो किसी पुरानी बीमारी से प्रभावित हैं. अब तक कोरोना वायरस का इलाज नहीं मिल सका है और ऐसी स्थिति में अस्थमा या ब्रोंकाइटिस से प्रभावित लोगों के लिए इस नई बीमारी से लड़ पाना आसान नहीं है. ऐसे लोगो को COVID-19 का इन्फेक्शन होने के बाद उन्हें निमोनिया और ARDS (एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम)(4)  हो सकता है. ARDS होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं. इसका इलाज और इस बीमारी से उबर पाना एक चुनौती जैसा है.(5) लिहाज़ा, हमारे लिए यह समझना बहुत अहम हो जाता है कि इस वायरस के हमले के समय हमारे फेफड़ों में क्या होता है. क्योंकि इस वायरस की प्रजाति लगभग SARS वायरस के जैसी ही है, स्टडीज़ बताती हैं कि COVID-19 भी उसी तरह का हमला करता है और फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है.(6)

केस 1: निमोनिया

‘निमोनिया’ शब्द प्राचीन ग्रीक शब्द ‘न्यूमॉन’ से बना है, जिसका मतलब होता है ‘फेफड़ा’. इस तरह ‘निमोनिया’ शब्द का मतलब बन जाता है ‘फेफड़े की बीमारी’. आमतौर पर यह इन्फ़ेक्शन बढ़ने के साथ  बढ़ता है, जिसमें गंभीर खांसी और सांस की तकलीफ़ होती है. दरअसल, इन्फ़ेक्शन की वजह से फेफड़ों में सूजन आ जाती है, जिससे फेफड़ों तक ऑक्सीजन पहुंचने में परेशानी होती है.(7)

केस 2: ARDS

ARDS से प्रभावित व्यक्ति को औसतन इन्फ़ेक्शन होने के 12वें दिन तकलीफ़ होनी शुरू होती है.(8) ARDS फेफड़ों की दीवारों को नुकसान पहुंचाता है. फेफड़ों में फ्लूइड बनने लगता है, जिससे ब्लड ऑक्सीजन लो होने के कारण ऑक्सीजन को शुद्ध और एक्सचेंज करने वाले एयर सैक को भी नुक़सान पहुंचता है. ARDS कई कारणों से हो सकता है. तो अब, इससे बचने के लिए हम क्या कर सकते हैं?

इलाज से बेहतर है रोकथाम 

यह CDC के दिए हुए कुछ सझाव हैं, जिन्हें इन्फ़ेक्शन से सुरक्षा के तौर पर अपनाया जा सकता है.(4)

एमरजेंसी की स्थिति में होशो हवास के साथ तैयारी करके ख़ुद को सुरक्षित करने पर ध्यान दें. COVID-19 इन्फ़ेक्शन से बचने के लिए बताए जा रहे उपायों का पालन करें. घर में ज़रूरत भर का किराने का सामान और दवा का स्टॉक रखें. साफ़-सफाई पर ध्यान दें, लोगों से दूरी बनाकर रखें, अपने हाथों को अच्छी तरह धोएं (कम से कम 20 सेकंड), भीड़-भाड़ और गैर-ज़रूरी यात्रा से बचें.

अगर आपको अस्थमा है या आप अस्थमा जैसी सांस की किसी बीमारी वाले व्यक्ति की देखभाल कर रहे हैं, तो इन बातों पर ध्यान दें. 

  • अस्थमा की देखभाल के अपने रुटीन पर बने रहें.
  • अपने डॉक्टर की बताई हुई अस्थमा की दवा लें.
  • अपना इन्हेलर साथ रखें, देखभाल करने वाले व्यक्ति यानी केयरगिवर को पता होना चाहिए कि इन्हेलर का इस्तेमाल कैसे करना है.
  • अस्थमा को बढ़ाने वाले कारणों से बचें. चिंता और तनाव पर कंट्रोल करना और उनका सामना करना सीखें.
  • सबसे अहम् बात, सफ़ाई करने और इन्फ़ेक्शन से बचे रहने को महत्व दें!
  • एमरजेंसी की स्थिति में अपने डॉक्टर से संपर्क करें या COVID-19 से निपटने के लिए भारत सरकार की ओर से जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर + 91 11 23978046 पर कॉल करें. आप Whatsapp नंबर +91 9013151515 पर मैसेज भेज सकते हैं या COVID-19 के लिए हेल्पलाइन ईमेल आईडी: ncov2019@gmail.com पर मेल कर सकते हैं.


संदर्भ:

  1. Coronavirus [Internet]. www.who.int. [cited 2020 Mar 23]. Available from: https://www.who.int/health-topics/coronavirus#tab=tab_1
  2. CDC. Coronavirus Disease 2019 (COVID-19) – Symptoms [Internet]. Centers for Disease Control and Prevention. 2020. Available from: https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/symptoms-testing/symptoms.html
  3. Wang D, Hu B, Hu C, Zhu F, Liu X, Zhang J, et al. Clinical Characteristics of 138 Hospitalised Patients With 2019 Novel Coronavirus–Infected Pneumonia in Wuhan, China. JAMA [Internet]. 2020 Feb 7; Available from: https://jamanetwork.com/journals/jama/fullarticle/2761044
  4. CDC. Coronavirus Disease 2019 (COVID-19) [Internet]. Centers for Disease Control and Prevention. 2020 [cited 2020 Mar 23]. Available from: https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/specific-groups/asthma.html
  5. Matthay MA, Aldrich JM, Gotts JE. Treatment for severe acute respiratory distress syndrome from COVID-19. The Lancet Respiratory Medicine [Internet]. 2020 Mar 20 [cited 2020 Mar 23]; Available from: https://www.thelancet.com/journals/lanres/article/PIIS2213-2600(20)30127-2/fulltext
  6. ‌Xu Z, Shi L, Wang Y, Zhang J, Huang L, Zhang C, et al. Pathological findings of COVID-19 associated with acute respiratory distress syndrome. The Lancet Respiratory Medicine [Internet]. 2020 Feb 18 [cited 2020 Mar 8];0(0). Available from: https://www.thelancet.com/journals/lanres/article/PIIS2213-2600(20)30076-X/fulltext?rss=yes&utm_campaign=update-lanres&utm_source=hs_email&utm_medium=email&utm_content=83570178&_hsenc=p2ANqtz-9uESUXj_Lm4iXDmvI7dkxjM6zR338P5y63h6v-10exFeWJ3NmnEemsd0SL_ftH9EkPEZ3SiWrzL7vAIGVMdFVtzj32qQ&_hsmi=83570178
  7. Pneumonia | National Heart, Lung, and Blood Institute (NHLBI) [Internet]. nih.gov. 2018 [cited 2020 Mar 23]. Available from: https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/pneumonia
  8. Zhou F, Yu T, Du R, Fan G, Liu Y, Liu Z, et al. Clinical course and risk factors for mortality of adult inpatients with COVID-19 in Wuhan, China: a retrospective cohort study. The Lancet [Internet]. 2020 Mar; Available from: https://www.thelancet.com/pb-assets/Lancet/pdfs/S014067362305663.pdf
  9. Acute Respiratory Distress Syndrome | National Heart, Lung, and Blood Institute (NHLBI) [Internet]. nih.gov. 2019 [cited 2020 Mar 23]. Available from: https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/acute-respiratory-distress-syndrome

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.