diabetes and mental health
Reading Time: 4 minutes

क्या आप जानते हैं कि डायबिटीज़ को कंट्रोल में रखने के दौरान अपनी दिमाग़ी सेहत का ख़याल रखना कितना अहम होता है? अगर आपका जवाब “नहीं’ है, तो यह जानने के लिए पढ़ें कि इसे अहमियत देना आपके लिए क्यों ज़रूरी है. 

जब व्यक्ति को पता चलता है कि उन्हें डायबिटीज़ है, तो ये बात उन्हें परेशान और निराश कर सकती है.1 इसके साथ ही उन्हें अपनी सेहत ही नहीं, बल्कि ज़िंदगी जीने के तरीक़े पर भी ख़तरा मंडराते हुए महसूस हो सकता है. डायबिटीज़ की देखभाल में ब्लड शुगर लेवल पर नज़र रखना, खान-पान और इंसुलिन के डोज़ लेने की प्लानिंग करना शामिल है. कुल मिलाकर ये सब बातें व्यक्ति को बहुत थका देने वाली लगती हैं और इमोशनली तोड़ देती हैं.3 ऐसे में हो सकता है कि आप अपने शरीर को सेहतमंद बनाए रखने के काम में इतना डूब जाएं कि मेंटल हेल्थ यानी दिमागी सेहत को दरकिनार कर दें.4

बहरहाल, सेहतमंद ज़िंदगी जीने के लिए अपनी दिमाग़ी सेहत का ख़याल रखना सबसे ज़्यादा ज़रूरी है. अगर आप बेचैनी और डिप्रेशन जैसी दिमाग़ी परेशानियों को नज़रअंदाज़ करते हैं, तो इससे आपका डायबिटीज़ और बिगड़ सकता है.5 लेकिन, अगर आप उनपर ध्यान देते हैं, तो इससे आपको अपने डायबिटीज़ को कंट्रोल में रखने में भी मदद मिल सकती है.4     

डायबिटीज़ और दिमाग़ी सेहत के बीच का संबंध 

अपने डायबिटीज़ को कंट्रोल में रखना आपके लिए बहुत मुश्किल भरा हो सकता है. आप ख़ुद को किसी बोझ तले दबा हुआ महसूस कर सकते हैं और अपनी हालत को संभालने के लिए कुछ कर पाने की आप में बहुत कम हिम्मत बची रह जाती है. इससे ब्लड शुगर लेवल ऊपर-नीचे हो सकता है, जिससे इस तरह के लक्षण पैदा हो सकते हैं: 

  • मूड में तेज़ी से बदलाव आना 
  • ठीक से सोच पाने में परेशानी 
  • थकान 
  • बेचैनी 

इससे आपका डायबिटीज़ ऐसी कंडीशन में पहुंच सकता है, जिसे डायबिटीज़ डिस्ट्रेस कहते हैं; इसके लक्षण स्ट्रेस, बेचैनी और डिप्रेशन से मिलते-जुलते होते हैं. मोटे तौरपर डायबिटीज़ से प्रभावित 30 से 50% लोग कभी न कभी डायबिटीज़ डिस्ट्रेस का अनुभव करते हैं.5  

स्ट्रेस और बेचैनी 

स्ट्रेस आपकी रोज़मर्रा की भागदौड़ भरी ज़िदगी का हिस्सा हो सकता है. साथ ही आप अपने बढ़ते-घटते शुगर लेवल, दवाओं की क़ीमत और डायबिटीज़ से जुड़े जोख़िमों को लेकर भी परेशान हो सकते हैं. आप जो स्ट्रेस महसूस करते हैं, वह गुस्से या डर जैसे किसी इमोशन का रूप ले सकता है या दिल की धड़कन बढ़ने या तेज़ी से पसीना आने जैसे शारीरिक रिएक्शन में से कोई एक या कभी-कभी दोनों हो सकते हैं.4 

बेक़ाबू गुस्सा कभी-कभी आपको बेहतर और हावी होने जैसा एहसास करा सकता है, लेकिन आप और आपके क़रीबी लोगों के लिए यह नुकसानदेह हो सकता है. अगर आप इसे संभालने का तरीक़ा नहीं जानते, तो यह घर के लोगों और साथ काम करने वालों से आपके रिश्तों पर असर डाल सकता है. यहां कुछ चीज़ें बताई जा रही हैं, जो गुस्से पर क़ाबू पाने में आपकी मदद करेंगी:

  • गहरी सांस लें 
  • नीचे बैठ जाएं, पीछे की तरफ़ झुकें और रिलैक्स होने की कोशिश करें   
  • दोनों बाहों को ढीला छोड़ दें 
  • ख़ुद को शांत करने की कोशिश करें 
  • थोड़ा टहलें 

एक तरह की घबराहट, डर या जोखिम होने के एहसास को बेचैनी कहते हैं. दूसरे लोगों के मुक़ाबले डायबिटीज़ से प्रभावित लोगों में स्ट्रेस और बेचैनी महसूस करने की संभावना 20% ज़्यादा होती है. डायबिटीज़ जैसी पुरानी समस्या को संभालना भी कुछ लोगों में बेचैनी पैदा कर सकता है.4

कुछ आसान तरीक़े जो स्ट्रेस और बेचैनी का सामना करने में आपकी मदद कर सकते हैं:

  • अपनी एहसासों पर ध्यान देना 
  • डायबिटीज़ के इलाज के ख़र्च को कम करने में मदद लेना 
  • अपने क़रीबी व्यक्ति से बात करना और उन्हें अपनी सेहत का ख़याल रखने की इजाज़त देना  
  • अपनी पसंद की एक्टिविटी के लिए वक़्त निकालना6 
  • योग और मेडिटेशन जैसी तकनीक के ज़रिए रिलैक्स करना  
  • अल्कोहल और कैफ़ीन का इस्तेमाल कम करना, अच्छी आदतें अपनाना और पूरी नींद लेना4

डिप्रेशन 

डिप्रेशन आपको दुखी महसूस होने और आपकी रोज़ की एक्टिविटी में आपकी दिलचस्पी कम करने की वजह बन सकता है. दूसरे लोगों के मुक़ाबले डायबिटीज़ से प्रभावित लोगों में डिप्रेशन का जोख़िम दोगुना होता है. वैसे, डिप्रेशन का पता लगना भी मुश्किल होता है. यह आपके काम-काज, घरेलू ज़िंदगी और डायबिटीज़ संभालने की आपकी क्षमता पर असर डाल सकता है, इस वजह से आपको नर्व डैमेज और दिल की बीमारी जैसी समस्याएं हो सकती हैं. 

डिप्रेशन की पहचान करना ज़रूरी होता है. नीचे दिए गए लक्षण आपको डिप्रेशन की पहचान करने में मदद कर सकते हैं:

  • सोने की आदतों में बदलाव 
  • भूख कम या ज़्यादा लगना 
  • एनर्जी में कमी 
  • ख़ुद को कुसूरवार सा महसूस करना  
  • ख़ुदकुशी करने के ख़याल आना 
  • स्कूल और काम की परफॉरमेंस पर असर पड़ना 
  • किसी बात में दिलचस्पी या ख़ुशी ना महसूस होना 
  • नॉर्मल वक़्त के मुक़ाबले सुबह जल्दी आंख खुलना 
  • किसी चीज़ पर ध्यान लगा पाने में परेशानी 
    नर्वस होना
  • बाक़ी दिन के मुक़ाबले सुबह के समय ज़्यादा बेचैनी महसूस करना 
  • दोस्तों और एक्टिविटीज़ से दूर हो जाना2

थेरेपी यानी उपचार 

अपनी सेहत का ख़याल रखने के लिए सबसे पहले तो आपको यह मान लेना होगा कि आप डायबिटीज़ से प्रभावित हैं. दुखी होने या डिप्रेशन में होने के बारे में बात करना आपको अटपटा सा महसूस करा सकता है. खैर, ऐसे डॉक्टर के पास जाना, जो आपकी दिमाग़ी सेहत की ज़रूरतों को अच्छी तरह समझ सके, दिमाग़ और शरीर को सेहतमंद रखने की तरफ़ आपका पहला क़दम है. 

वीडियो देखें: योग है इंडोर एक्सरसाइज़ करने का अच्छा विकल्प

आपके डायबिटीज़ का इलाज करने वाले डॉक्टर आपको दिमाग़ के डॉक्टर के पास जाने की सलाह दे सकते हैं, जो आपकी दिमाग़ी हालत को समझकर स्ट्रेस और बेचैनी की वजहों को दूर करके आपकी मदद करते हैं. आपके डॉक्टर साथ मिलकर आपके इलाज का ऐसा प्लान तैयार कर सकते हैं, जिससे आपको अपने शरीर और अपने दिमाग की देखभाल करने में मदद मिलती है.5   

लिहाज़ा, अपनी दिमाग़ी सेहत पर ध्यान देकर अपने डायबिटीज़ को कामयाबी के साथ नियंत्रित करें.2

 

संदर्भ

  1. American Diabetes Association. Newly diagnosed [Internet]. [cited 2019 Nov 12]. Available from: https://www.diabetes.org/diabetes/newly-diagnosed
  2. American Diabetes Association. Mental health [Internet]. [cited 2019 Nov 12]. Available from: https://www.diabetes.org/diabetes/mental-health
  3. American Diabetes Association. Mental health: living with type 1 [Internet]. [cited 2019 Nov 12]. Available from: https://www.diabetes.org/diabetes/type-1/mental-health
  4. Centers for Disease Control and Prevention. Diabetes and mental health [Internet]. [updated 2018 Aug 06; cited 2019 Nov 12]. Available from: https://www.cdc.gov/diabetes/managing/mental-health.html
  5. Mental Health America. Diabetes and mental health [Internet]. [cited 2019 Nov 12]. Available from: https://www.mhanational.org/diabetes-and-mental-health
  6. Centers for disease control and prevention. 10 Tips for coping with diabetes distress [Internet] [updated 2019 Oct 08; cited 2019 Nov 12]. Available from: https://www.cdc.gov/diabetes/managing/diabetes-distress/ten-tips-coping-diabetes-distress.html

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.