diabetes-treatment-insulin-stop-using
Reading Time: 3 minutes

डायबिटीज़, ख़ासकर टाइप 2 डायबिटीज़ से प्रभावित लोग अक्सर पूछते हैं कि क्या वह कभी इंसुलिन के इस्तेमाल से छुटकारा पा सकते हैं?  और इस बारे में एक्सपर्ट का छोटा सा जवाब है, ‘हां, ऐसा हो सकता है’. हालांकि टाइप 1 डायबिटीज़ वाले लोग इस समस्या की प्रकृति के कारण इंसुलिन का इस्तेमाल बंद नहीं कर सकते, लेकिन टाइप 2 डायबिटीज़ वाले लोग आसानी से इस हॉर्मोनका इस्तेमाल बंद करने की कोशिश कर सकते हैं. इसकी वजह यह है कि टाइप 2 डायबिटीज़ वाले लोगों में इंसुलिन का इस्तेमाल ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए एक उपकरण के तौर पर किया जाता है. ऐसे में सही खानपान और एक्सरसाइज़ के ज़रिए ब्लड शुगर को कंट्रोल करने की कोशिश की जाए, तो इंसुलिन के इस्तेमाल को कम किया जा सकता है या इसे बंद भी किया जा सकता है.

अमेरिकन असोसिएशन ऑफ क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजिस्ट के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रिचर्ड हेलमन (MD) ने एक इंटरव्यू में बताया कि “ऐसा व्यक्ति जो बहुत मोटा हो या उसका वज़न बहुत ज़्यादा हो, अगर वह अपना वज़न सही ढंग से कम कर ले, तो उसकी इंसुलिन की ज़रूरत और खाई जाने वाली दवाओं की ख़ुराक में भारी कमी आ सकती है. या ऐसा भी हो सकता है इनकी ज़रूरत ही ना रह जाए.”

इंसुलिन लेने के साथ-साथ कैसे रोकें ब्लड शुगर का गिरता लेवल?

इंसुलिन और वज़न बढ़ने के बीच संबंध

ऐसा कहा जाता है कि इंसुलिन लेने से शरीर का वज़न कुछ बढ़ सकता है क्योंकि इंसुलिन एक ऐसा हार्मोन है, जो भोजन से मिलने वाले ग्लूकोज़ के अवशोषण को कंट्रोल करता है. लेकिन हालात तब ज़्यादा बिगड़ जाते हैं, जब इंसुलिन ले रहा व्यक्ति बहुत ज़्यादा कैलोरी वाली ऐसी चीज़ें खाने लगता है, जिनकी उसके शरीर को ज़रूरत नहीं होती और यह फैट के रूप में शरीर में जमा हो जाता है. इसलिए, अगर आपको अपने शरीर का वज़न सही रखना है और इंसुलिन का इस्तेमाल बंद करना है, तो यह सुनिश्चित करना होगा कि आप जो इंसुलिन ले रहे हैं, उसके साथ संतुलन बनाए रखते हुए ही कैलोरी का सेवन करें.  

वज़न कम करने और इंसुलिन की ज़रूरत ख़त्म करने  के लिए उठाए जाने वाले कुछ क़दम 

  • हेल्थी डाइट अपनाएं और शारीरिक तौर पर एक्टिव रहें : अपने खानपान और ली जा रही कैलोरी पर नज़र रखना, शरीर के अतिरिक्त वज़न को धीरे-धीरे कम करने का अच्छा तरीक़ा है. आपकी डाइट में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फ़ैट सही संतुलन में शामिल होना चाहिए. साथ ही फल और सब्ज़ियों को अपने रोज़ाना के खाने में शुमार करने से भी आपके वज़न घटाने के लक्ष्य पर काफ़ी फ़र्क़ पड़ता है.

  • शारीरिक रूप से एक्टिव रहें: वज़न कम करने के लिए दिन में कम से कम 30 मिनट तक एक्सरसाइज़ करना ज़रूरी है. एरोबिक्स, पैदल चलना, डांस, साइकिल चलाना, यहां तक कि बाग़बानी जैसी हल्की-फुल्की एरोबिक एक्टिविटी अपनाने से भी वज़न घटाने में काफ़ी मदद मिल सकती है.

  • खाने में लापरवाही ना करें: अगर आप सोचते हैं कि खाना छोड़ने से आपको अपना वज़न कम करने में मदद मिलेगी, तो एक बार फिर से सोचें. खाना नहीं खाने से आपको ब्लड शुगर लो होने का ख़तरा तो रहता ही है, इसके अलावा जिस वक़्त आपको तेज़ भूख लगेगी, आप जो हाथ लगेगा, उसे खा लेंगे. इनमें ज़्यादा कैलोरी वाली और सेहत के लिए नुक़सानदेह चीज़ें भी हो सकती हैं.

  • डॉक्टर से अपने लिए फ़ायदेमंद डायबिटीज़ की दवा के बारे में पूछें: मधुमेह की कुछ दवाएं हैं, जिनसे आपको वज़न घटाने में मदद मिल सकती हैं. आप अपने डॉक्टर से उन दवाओं को अपने नुस्ख़े में शामिल करने के लिए कह सकते हैं, जिनसे आपका वज़न कम हो सके.

  • अपनी इंसुलिन की ख़ुराक लेते रहें: जल्द से जल्द वज़न घटाने के चक्कर में डॉक्टर की लिखी हुई इंसुलिन की ख़ुराक लेना बंद न करें. इंसुलिन न लेने से आपका ब्लड शुगर लेवल तो तेज़ी के साथ बढ़ेगा ही, डायबिटीज़ से जुड़ी परेशानियों के बढ़ने का जोख़िम भी ज़्यादा हो जाएगा.

    इसे भी पढ़ें: अगर आपको डायबिटीज़ (मधुमेह) है तो इंसुलिन से जुड़ी ये बातें आपको पता होनी चाहिए

इन बातों का भी रखें ध्यान

डायबिटीज़ एक तेज़ी से बढ़ने वाली समस्या है और इसीलिए कई बार इसका पता तब चलता है, जब यह परेशानी काफी बढ़ चुकी होती है. अगर आपके शरीर में इंसुलिन बनाने वाली बीटा कोशिकाएं काम नहीं कर रही हैं, तो आपको हमेशा के लिए इंसुलिन लेने की ज़रूरत हो सकती है. लेकिन अगर आपकी सेहत अच्छी है, जैसे कि डायबिटीज़ का पता लगने के समय आप मोटापे का शिकार नहीं हैं और एक्सरसाइज़ वगैरह करते हैं, तो मुमकिन है कि आपको लाइफ़स्टाइल में बदलाव करने से बहुत ज़्यादा परेशानी ना महसूस हो. अपने प्लान में कोई भी बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें.

संदर्भ: 

  1. Weight gain during insulin therapy in patients with type 2 diabetes mellitus. SimonHeller
  2. Anti-inflammatory effect of exercise training in subjects with type 2 diabetes and the metabolic syndrome is dependent on exercise modalities and independent of weight loss. S.BalducciabS.ZanusocA.NicoluccidF.FernandoeS.CavallofP.CardellifS.FalluccafE.AlessibC.LetiziagA.JimenezhF.FalluccabG.Puglieseb
  3. Management of Blood Glucose in Type 2 Diabetes Mellitus, CYNTHIA M. RIPSIN, MD, MS, MPH; HELEN KANG, MD; and RANDALL J. URBAN, MD, University of Texas Medical Branch, Galveston, Texas

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.