Reading Time: 4 minutes

डायबिटीज़ में थकान 

डायबिटीज़ (मधुमेह) का पता चलने के बाद अक्सर लोगों से वज़न कम करने और ख़ून में शुगर का स्तर क़ाबू में रखने के लिए शारीरिक गतिविधि में इज़ाफ़ा करने को कहा जाता है. इसके लिए कई लोग मन में निश्चय भी करते हैं, सुबह जल्दी उठते हैं और योग क्लास ज्वाइन करने की सोचते हैं. लेकिन इस बीच उन्हें महसूस होता है कि उनमें ऐसा कुछ करने लायक़ ज़रा भी ऊर्जा नहीं बची है. अगर आप भी ऐसा महसूस करते हैं तो घबराए नहीं. आप अकेले नहीं हैं. आप जैसे लाखों दूसरे लोगों को भी डायबिटीज़ के दौरान सुस्ती और थकान की शिकायत होती है. इस लेख में हम इस समस्या को दूर करने के उपाय बताएंगे.

डायबिटीज़ के कारण आप तेज़ी से थकान महसूस कर सकते हैं या ये परेशानी पुरानी भी हो सकती है: तेज़ या एक्यूट फ़टीग (थकान) का स्तर हर रोज़ बदल सकता है. आमतौर पर इससे रोज़मर्रा के कामकाज में परेशानी नहीं होती. डायबिटिक को कम से कम लगातार छह महीने तक थकान महसूस हो तो इसे क्रोनिक फ़टीग कहते हैं. इसका असर रोज़मर्रा के कामकाज पर पड़ता है. [1]

अगर आप डायबिटीज़ से ग्रसित हैं और ऊर्जा की कमी महसूस कर रहे हैं, यहां तक कि रोज़मर्रा के कामकाज में भी आपको परेशानी हो रही है और आप लगातार अवसाद महसूस कर रहे हैं, तो आपको डायबिटीज़ के कारण होने वाली इस थकान को दूर करने का उपाय खोजना शुरु कर देना चाहिए.[2]

सेहत से जुड़ी दूसरी समस्याओं पर ध्यान दें:

डायबिटीज़ में शारीरिक थकान, किडनी में गड़बड़ी या टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में बदलाव, स्लीप एप्निया’ जैसी नींद से जुड़ी बीमारियों या अवसाद के कारण हो सकती है. इसके अलावा हाइपरग्लाइसेमिया या हाइपोग्लाइसेमिया, न्यूरोपैथी या दिल की बीमारियां भी थकान की वजह हो सकती हैं.[3]

काम की बात: डायबिटीज़ के दौरान व्यायाम क्यों करना चाहिए?

ऐसे किसी भी कारण की पड़ताल के लिए सबसे पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. सबसे बेहतरीन तरीक़ा है कि आप विस्तार से अपनी परेशानी डॉक्टर को बताएं, मसलन, आपको कब थकान महसूस होती है या इससे जुड़ी कोई दूसरी गंभीर बात जो आपने महसूस की हो.

इसे भी पढ़ें- डायबिटीज़: वॉक पर जाने से पहले क्या आप इन 6 बातों का ख़याल रखते हैं?

सेहतमंद खाना खाएं:

ख़ून में ग्लूकोज़ का स्तर क़ाबू में रखने के लिए कुछ डायबिटिक खाने में ज़रूरत से ज़्यादा कमी कर देते हैं. बेंगलुरु की न्यूट्रिशनिस्ट रंजनी का कहना है कि ऐसे लोग सेहतमंद खाने के अभाव में थकान महसूस कर सकते हैं. उनकी सलाह है, डायबिटिक लोगों को अपने खाने में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम कर, प्रोटीन और हरी सब्ज़ियों की मात्रा बढ़ानी चाहिए. क्योंकि कार्बोहाइड्रेट से बेहद कम समय के लिए ऊर्जा मिलती है.

योग जैसे कम मेहनत वाले अभ्यास करें:

जब आप थकान महसूस कर रहे हों, तो कम से कम किये जानेवाले कामों के अलावा आपमें कुछ भी करने की ताक़त नहीं बचती है. ध्यान देने लायक़ बात है कि एक्सरसाइज़ या शारीरिक गतिविधि का मतलब काफ़ी मेहनत करना नहीं होता. रिसर्च बताती है कि कम मेहनत वाली एक्सरसाइज़ 65% तक थकान मिटाती है.

बेंगलुरु के एस-व्यास विश्वविद्यालय में योग के जानकार और शिक्षक प्रो. सुब्रमाणियन कहते हैं, योगासन से डायबिटीज़ में फ़ायदा ज़रूर होता है. इससे कुछ लोगों के ख़ून में शुगर का स्तर क़ाबू में रहता है, तो कुछ की थकान दूर होती है. कारण जो भी हो, लेकिन पाया गया है कि थकान में अपने आप कमी आती है.

भावनात्मक तनाव दूर करें:

डॉ. विजयलक्ष्मी बेंगलुरु के कदम्बम हॉस्पिटल्स में सलाहकार मनोवैज्ञानिक हैं. वो डायबिटीज़ से ग्रसित लोगों में देखे जाने वाली एक नई परेशानी की ओर ध्यान दिलाती हैं. विजयलक्ष्मी के मुताबिक़. इन दिनों डायबिटीज़ बर्नआउट शब्द का इस्तेमाल उस स्थिति के लिए किया जा रहा है जब लोग लम्बे समय तक डायबिटीज़ मैनेजमेंट को लेकर दिमाग़ी तौर पर तनाव में रहते हैं. ये उस काम के जैसा है, जिससे आप नफ़रत करते हैं.

उनकी सलाह है कि डायबिटीज़ से ग्रसित लोगों को ये परेशानी डॉक्टर को बतानी चाहिए, और अगर हो सके तो ज़िम्मेदारी भरे ‘डायबिटीज़ वेकेशन’ जैसी योजना भी बनाई जा सकती है, जिसमें एक रात छोड़कर डायबिटिक खाने से दूर रहना हो सकता है, या फिर पूरे महीने सख्ती से डायबिटिक मेन्यू से चिपके रहने के बाद अपने पसंदीदा चॉकलेट फज के साथ सारे नियम-कानून तोड़ देना भी हो सकता है.(4)

जब आप पहले से थकान महसूस कर रहे हों, और साथ में डायबिटीज़ के चलते दिमाग़ी थकान भी हो, तो हालात बदतर हो जाते हैं. डायबिटीज़ के कारण थकान हो तो सचेत हो जाएं. अपनी पुरानी आदतों का आकलन करें और गहराई से जांच करें कि आप डायबिटीज़ को किस तरह डील कर रहे हैं. क्या आपको जीवन के रफ़्तार में बदलाव की ज़रूरत है? क्या आपको अधिक आराम की ज़रूरत है? ख़ुद की देखभाल की योजना थकान भरी तो नहीं? कहीं आप अवास्तविक ग्लाइसेमिक स्तर पाने की कोशिश तो नहीं कर रहे? जवाब जो भी हो, डायबिटीज़ के चलते होने वाली थकान को कम करने के तरीक़े ढूँढने के दौरान ख़ुद के साथ नरमी बरतें और संयम से काम लें.

कंटेंट की समीक्षा अश्विनी एस कनाडे ने की है, वे रजिस्टर्ड डाइटीशियन हैं और 17 सालों से मधुमेह से जुड़ी जानकारियों के प्रति लोगों को जागरूक कर रहीं हैं.

तथ्यों की जांच आदित्य नर, बी.फ़ार्मा, एमएससी, पब्लिक हेल्थ एंड हेल्थ इकोनॉमिक्स.

 

फ़ोटो साभार: Storyblocks

संदर्भ:

[1] M.M. Goedendorp, C.J. Tack, E. Steggink, L. Bloot, E. Bazelmans, H. Knoop. Chronic Fatigue in Type 1 Diabetes: Highly Prevalent but Not Explained by Hyperglycemia or Glucose Variability. Diabetes Care; 2014; 37; 73-80; DOI: 10.2337/dc13-0515

[2] Extreme Tiredness(Fatigue). Diabetes.co.uk.

[3] C. Fritschi, L. Quinn. Fatigue in patients with diabetes: A Review. J Psychosom Res.2010; 69(1); 33-41; DOI  10.1016/j.jpsychores.2010.01.021

[4] Low-intensity Exercise Reduces Fatigue Symptoms By 65 Percent, Study Finds. University of Georgia.  ScienceDaily; 2008. Retrived on: 10.10.2017; Link: https://www.sciencedaily.com/releases/2008/02/080228112008.html

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.