high blood pressure hypertension causes unknown risks
Reading Time: 3 minutes

यहां ऐसी 5 बातें बताई गई हैं, जिनकी सही जानकारी न होने से हो सकता है आप अनजाने में ही अपने हाइपरटेंशन के हालात को बद से बदतर कर रहे हैं. इसलिए इन बातों को जानना आपके लिए बेहद ज़रूरी है ताकि आप एक सेहतमंद ज़िंदगी जी सकें.

हाइपरटेंशन दूसरी बीमारियों से बिलकुल अलग है क्योंकि दूसरी बीमारियों के लक्षण शरीर में साफ तौर पर दिखाई देते हैं, लेकिन हाइपरटेंशन होने की कोई निशानी आपको नज़र नहीं आती. इसके अलावा, हाइपरटेंशन से पीड़ित लोगों में ब्लड प्रेशर के उतार-चढ़ाव का खतरा हमेशा बना रहता है जिससे उन्हें दिल की बीमारी और किडनी के ख़राब होने जैसी गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं. इसलिए, दिल की बीमारियों से बचने क लिए  ब्लड प्रेशर को काबू में रखना बहुत ज़्यादा ज़रूरी होता है. और इसे रोकने का सबसे बेहतरीन तरीका यह है कि आपको उन बातों के बारे में पता हो जिससे हालात और ख़राब हो जाते हैं. ये बातें जानने से आप अपना और बेहतर तरीके से ख़याल रख सकते हैं और हालत को बद से बदतर होने से बचा सकते हैं.

अगर आपको हाइपरटेंशन है, तो आपको पता होना चाहिए कि आपके रोज़ की एक्टिविटी का आपके ब्लड प्रेशर पर गहरा असर पड़ता है. और इसलिए आपको अपने ब्लड प्रेशर को मैनेज करने के लिए रोज़ाना की एक्टिविटी पर ध्यान देना चाहिए. यहां ऐसी 5 बातें बताई गई हैं, जिन पर आपको ख़ास तौर पर ध्यान देने की ज़रूरत है.

1. रोज़ाना डिब्बाबंद खाना

ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस (AIIMS) के जाने-माने कार्डियोलॉजिस्ट यानी हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. नितीश नाइक ने इस बात पर रोशनी डाली है कि डिब्बाबंद या पॅकेज वाली चीज़ें खाना, हाइपरटेंशन से पीड़ित लोगों में ब्लड प्रेशर के बढ़ने की कैसे एक अहम वजह रही है. वो कहते हैं, “ज़्यादा नमक वाली खाने की चीज़ों से ब्लड प्रेशर बढ़ता है. इसके साथ ही जिन चीज़ों में बेकिंग सोडा, बेकिंग पाउडर और मोनोसोडियम ग्लूटामेट का इस्तेमाल किया जाता है, उनसे भी ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है क्योंकि उसमें सोडियम की मात्रा बहुत ज़्यादा होती है. खाने में पॅकेज वाली चीज़ें अक्सर ब्रेड, पिज़्ज़ा, रोल्स, सैंडविच और पोल्ट्री के तौर पर शामिल हो जाती हैं.”

2. दवा का इस्तेमाल:

आम तौर पर होने वाली सर्दी-जुकाम/खांसी के लिए आप कितनी बार पेनकिलर या बिना डॉक्टर से मिले कोई दूसरी दवाएं लेते हैं? खैर, अगर आपको हाइपरटेंशन है, तो कोई भी दवा लेने से पहले दो बार सोचें क्योंकि दवाओं के ज़्यादा इस्तेमाल से आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और जिससे आपकी तकलीफें भी. डॉ. नाइक का कहना है, “खांसी-जुकाम के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कुछ दवाओं में डीकंजेस्टेंट और कुछ ऐसी दवाएं शामिल होती हैं जो लंबे समय से रहने वाले दर्द के लिए इस्तेमाल की जाती हैं, जिनसे ब्लड प्रेशर के लेवल पर असर पड़ता है. गर्भ नियंत्रण की गोलियां, स्टेरॉयड, मानसिक समस्याओं वाले लोगों के लिए प्रिस्क्राइब की गई कुछ दवाएं और कुछ हर्बल दवाएं भी ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकती हैं”.

3. एनर्जी देने वाली चीज़े ज़्यादा पीना

अगर आप दिनभर में 2 कप से ज़्यादा चाय या कॉफ़ी पीना पसंद करते हैं, तो आप अनजाने में ही अपने हाइपरटेंशन के हालात को और बिगाड़ रहे हैं. डॉ. नाइक हाइपरटेंशन की स्थिति में ज़्यादा चाय और कॉफ़ी पीने से मना करते हैं. उनका कहना है इससे ख़ास तौर पर कम उम्र वाले लोगों पर ज़्यादा बुरा असर होता है.  

यहां जानें: हाइपरटेंशन से जुड़ी कुछ गलतफ़हमियां, जिन पर आपको भरोसा नहीं करना चाहिए.

4. सही फ़िज़िकल एक्टिविटी की कमी

शायद आप सोचते हों कि काम पर आते-जाते समय आप जितना ट्रैवेलिंग करते हैं,  दिन भर में उतनी फ़िज़िकल एक्टिविटी काफ़ी है. अगर काम के लिए आपको कई घंटों तक कुर्सी पर बैठे रहना पड़ता है, तो ज़रूरी है कि आप फ़िज़िकल एक्टिविटी के लिए समय निकालें. गाइडलाइन के हिसाब से सलाह दी जाती है कि जिन लोगों को हाइपरटेंशन है, उन्हें दिन भर में कम से कम 30 मिनट तक संतुलित रूप से थोड़ी गंभीर एक्टिविटी करनी चाहिए ताकि हाइपरटेंशन की समस्या को बढ़ने से रोका जा सके. जॉगिंग, स्वीमिंग और साइकलिंग जैसी एक्टिविटी कुछ ऐसी एक्सरसाइज़ हो सकती हैं जिनसे आप शुरू कर सकते हैं.

5. मानसिक/भावनात्मक तनाव:

आपकी लाइफ़स्टाइल से आपकी सेहत पर सीधा असर पड़ता है. काम के संबंध में स्ट्रेस यानी तनाव होने, गुस्सा आने, ज़्यादा सोचने, डिप्रेशन होने और अच्छी नींद के ना आने से आपके ब्लड प्रेशर पर बड़े पैमाने पर असर हो सकता है और इससे आपकी हालत और ख़राब हो सकती है. स्ट्रेस से कोर्टिसोल और एड्रेनालाईन की मात्रा बढ़ती है, जिससे दिल की धड़कनें तेज़ ह जाती हैं और आपका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है. इसलिए, इस बात पर ध्यान पर दें कि किन बातों से आपका स्ट्रेस लेवल बढ़ता है और आपके स्ट्रेस के बढ़ने पर, अगर ज़रूरत हो तो आराम करें.

संदर्भ:

 

  • Chei CL1, Loh JK2, Soh A3, Yuan JM4,5, Koh WP6,7. Coffee, tea, caffeine, and risk of hypertension: The Singapore Chinese Health Study. Eur J Nutr. 2018 Jun;57(4):1333-1342. doi: 10.1007/s00394-017-1412-4. Epub 2017 Mar 1.

 

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.