cosmetics diabetes
Reading Time: 3 minutes

कंटेंट की समीक्षा :अश्विनी एस कनाडे ने की है, वे रजिस्टर्ड डाइटीशियन हैं और 17 सालों से मधुमेह से जुड़ी जानकारियों के प्रति लोगों को जागरुक कर रहीं हैं.
तथ्यों की जांच: आदित्य नर, बी.फ़ार्मा, एमएससी, पब्लिक हेल्थ एंड हेल्थ इकोनॉमिक्स.

हमारे पास अक्सर डायबटीज़ से प्रभावित कुछ ऐसी महिलाएं भी पहुँचती हैं जिनका सवाल होता है कि कहीं उनके डायबिटिक होने के पीछे कॉस्मेटिक्स तो ज़िम्मेदार नहीं है? ऐसे में हम इस आर्टिकल के ज़रिये आपके सामने कुछ तथ्यों को पेश कर रहे हैं, जिसे पढ़कर आप इस मुद्दे पर अपनी राय बना सकते हैं.

केमिकल के सम्पर्क में आना है डायबिटीज़ की वजह?

क्या आप जानते हैं आपकी लिपस्टिक और डिटर्जेंट में क्या समानता है? या फिर नेल-पॉलिश और बिल्डिंग मटीरियल, इन दोनों में कौन सी चीज़ एक जैसी है?

असल में इन दोनों में रसायनों के कुछ ऐसे समूह मौजूद होते हैं जो काफ़ी ख़तरनाक साबित हो सकते हैं. मसलन, फ़ैलेट्स और एंडोक्राइन डिसरप्टिंग केमिकल्स (EDCs). एंडोक्राइन डिसरप्टिंग केमिकल्स कीटनाशकों और पर्सनल केयर प्रोडक्ट्स में पाए जाते हैं.

हाल ही में कुछ अध्ययनों ने डायबिटीज़ के बढ़ने या इससे प्रभावित होने के पीछे फ़ैलेट्स के उच्च स्तर को एक वजह मानी है.(1, 2) और जब पेशाब में फ़ैलेट्स की मौज़ूदगी को जानने के लिए टेस्ट किया गया, तो मालूम हुआ कि पुरुषों के मुक़ाबले महिलाएं इसकी चपेट में ज़्यादा आती हैं. ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि महिलाएं पर्शनल केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल ज़्यादा करती हैं.(3)

वीडियो देखें: जानें, डायबिटीज़ में योग करने के फ़ायदे 

एक और स्टडी के मुताबिक़ पुरुषों के फ़ैलेट्स के ज़्यादा सम्पर्क में आने से उनकी कमर के आस-पास के हिस्सों में विस्तार (मोटापा) होने लगता है और इन्सुलिन प्रतिरोध का ख़तरा बढ़ जाता है. ये दोनों ही डायबिटीज़ होने की आम वजहें हैं.(4)

लगातार इस तरह के तथ्य और डेटा सामने आ रहे हैं जो ये इशारा करते हैं कि एंडोक्राइन डिसरप्टिंग केमिकल्स, मेटाबॉलिज़्म (चयापचय) के बिगड़ने, इन्सुलिन के प्रतिरोध, मोटापा और डायबिटीज़ के लिए ज़िम्मेदार होते हैं.(5)

 इसे भी पढ़ें: आप इस तरीक़े से अपना HbA1c लेवल कम कर सकते हैं!

बैंगलोर में कंसलटेंट डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ परिणीता राव के अनुसार, “कॉस्मेटिक्स में मौजूद फ़ैलेट्स से इन्सुलिन रेजिस्टेंस और डायबिटीज़ होने की संभावना बढ़ सकती, लेकिन इसका स्तर कम होने के चलते ये ज़्यादा चिंता पैदा नहीं करते.” वो आगे कहती हैं, “भारत में भी कई फ़ैलेट्स फ़्री कॉस्मेटिक्स मिलते हैं.”

डायबिटीज़ होने के पीछे कई कारण होते हैं, केमिकल्स के सम्पर्क में आना उनमें से एक कारण है. अपने खाने-पीने की चीज़ों और डायट पर ध्यान दें, शारीरिक तौर पर सक्रिय रहें, समझदारी के साथ लाइफ़स्टाइल चुनें. लेकिन हाँ, बेहतर होगा कि रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में तमाम तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल कम करें और उनके सम्पर्क में आने बचें.

आपको पूरी तरह कॉस्मेटिक्स से दूरी बनाने की ज़रूरत नहीं है. बस उन उत्पादों का इस्तेमाल करें जिनमें फ़ैलेट्स न हों. आपको बता दें कि कुछ देशों ने कॉस्मेटिक्स में फ़ैलेट्स का इस्तेमाल करने पर पूरी तरह से पाबंदी भी लगा दी गई है.


फ़ोटो साभार: Pixabay

संदर्भ:

[1] Chevalier N, Fénichel P. [Endocrine disruptors: A missing link in the pandemy of type 2 diabetes and obesity?]. Presse Med. 2016 Jan;45(1):88-97. doi:10.1016/j.lpm.2015.08.008. Epub 2015 Dec 2. French. PubMed PMID: 26655260.

[2] James-Todd T, Stahlhut R, Meeker JD, Powell SG, Hauser R, Huang T, Rich-Edwards J. Urinary phthalate metabolite concentrations and diabetes among women in the National Health and Nutrition Examination Survey (NHANES) 2001-2008. Environ Health Perspect. 2012 Sep;120(9):1307-13. doi: 10.1289/ehp.1104717. Epub 2012 Jul 13. PubMed PMID: 22796563; PubMed Central PMCID: PMC3440117.

[3] Sun Q, Cornelis MC, Townsend MK, Tobias DK, Eliassen AH, Franke AA, Hauser R, Hu FB. Association of urinary concentrations of bisphenol A and phthalate metabolites with risk of type 2 diabetes: a prospective investigation in the Nurses’ Health Study (NHS) and NHSII cohorts. Environ Health Perspect. 2014 Jun;122(6):616-23. doi: 10.1289/ehp.1307201. Epub 2014 Mar 14. PubMed PMID: 24633239; PubMed Central PMCID: PMC4050512.

[4] Silva MJ, Barr DB, Reidy JA, Malek NA, Hodge CC, Caudill SP, Brock JW, Needham LL, Calafat AM. Urinary levels of seven phthalate metabolites in the U.S. population from the National Health and Nutrition Examination Survey (NHANES) 1999-2000. Environ Health Perspect. 2004 Mar;112(3):331-8. Erratum in: Environ Health Perspect. 2004 Apr;112(5):A270. PubMed PMID: 14998749; PubMed Central PMCID: PMC1241863.

[5] Stahlhut RW, van Wijngaarden E, Dye TD, Cook S, Swan SH. Concentrations of urinary phthalate metabolites are associated with increased waist circumference and insulin resistance in adult U.S. males. Environ Health Perspect. 2007 Jun;115(6):876-82. Epub 2007 Mar 14. Erratum in: Environ Health Perspect. 2007 Sep;115(9):A443. PubMed PMID: 17589594; PubMed Central PMCID: PMC1892109.

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information provided in this article is for patient awareness only. This has been written by qualified experts and scientifically validated by them. Wellthy or it’s partners/subsidiaries shall not be responsible for the content provided by these experts. This article is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this article/website.