tips to make home cooked meals diabetes friendly
Reading Time: 2 minutes

डायबिटीज़ (मधुमेह) का पता चलते ही ये आपके दैनिक आहार में भी काफ़ी बदलाव ला देता है. आपको लग सकता है कि अब आप अपनी पसंद की कई स्वादिष्ट चीज़ें नहीं खा पाएंगे या अब आपको परहेज़ का खाना खाने की ज़रूरत है. लेकिन ये बिल्कुल भी सच नहीं है. डायबिटीज़ का पता चलने के बाद भी आप जो भोजन पसंद करते हैं, उसका मज़ा लेना जारी रख सकते हैं. लेकिन ज़रूरत इस बात की है कि आप ये जान सकें कि डायबिटीज़ के अनुकूल आहार कौन सा है और उसे पकाने की तकनीक कौन सी है. कैलोरी काउंटिंग सर्विस, द फ़ूड एनालिस्ट्स के संस्थापक, वीर रामलुगन हमें कुछ आसान से टिप्स बता रहे हैं, जिससे आप अपने खाने को डायबिटीज़ के अनुकूल बना सकते हैं.

1. ज़्यादा वसा (फ़ैट) युक्त मीट के बदले कम फ़ैट वाला मीट खाएं 

आपकी कोशिश ये रहनी चाहिए कि आप कम हाई फ़ैट वाला मीट और कम हाई कैलोरी युक्त भोजन का सेवन करें, इसके अलावा आप स्वादिष्ट भोजन बनाने के लिए अन्य तकनीकों के साथ प्रयोग करने का तरीका भी ढूंढ सकते हैं.


2. खाना पकाने की दूसरी तकनीक भी अमल में लाएं

आप खाने को फ़ैटफ़्री बनाने के लिए उसे भुनने के साथ ही ,ग्रिलिंग,हल्का तलकर, रोस्टिंग, स्टीमिंग और बेकिंग के ज़रिए स्वादिष्ट बनाने की कोशिश कर सकते हैं.

3. फ़ैट को कहें ना!

प्रोटीन की स्किन और उससे जुड़ा हुआ फ़ैट आमतौर पर स्वाद को बढ़ाते हैं. लेकिन चूँकि इसमें सचुरेटिड फ़ैट की मात्रा काफ़ी ज़्यादा होती है ऐसे में आपको खाना पकाने से पहले सभी तरह के फ़ैट (वसा) को हटा देना चाहिए. ऐसा करने के बावजूद आप मांस और उसके स्वाद का आनंद ले सकते हैं. वो भी हानिकारक फ़ैट का सेवन किये बिना.

4. अपने किचन में डायबिटीज़ फ़्रेंड्ली मसाले बढ़ा दें

अपनी रसोई में कुछ ऐसी जड़ीबूटियों और मसालों को जगह दें जो डायबिटीज़ के अनुकूल हों और आपके खाने का स्वाद बढ़ाते हों.

5. मच्छली को अपने आहार में जगह दें!

डायबिटीज़ से ग्रसित लोगों के लिए सीफ़ूड, भोजन का एक बढ़िया विकल्प है, क्योंकि मच्छली में मौजूद ओमेगा 3 फ़ैटी एसिड आपके दिल को स्वस्थ और बेहतर स्थिति में रखने में मदद करता है.

6. हरी सब्ज़ियों और अनाज की अनदेखी न करें

फ़ाइबर से समृद्ध हरी सब्ज़ियों का इस्तेमाल करते रहें क्योंकि उनमें कार्ब कम होते हैं. इसके अलावा घर पर हमेशा साबुत अनाज और उच्च फ़ाइबर युक्त अनाज रखें. फ़ाइबर हमारे ख़ून में ग्लूकोज़ की गति को धीमा कर देता है और इंसुलिन के प्रतिरोध को भी कम करने में सहायक है.

इसे भी पढ़ें:  ये 5 भारतीय व्यंजन आपके ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखने में आपकी मदद कर सकते हैं

घर से बाहर खाना खाने के दौरान आप खाने में इस्तेमाल की गई सामग्री और उसे पकाने के तरीक़ों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं. तो घर पर ज़्यादा से ज़्यादा खाने पकाने को प्राथमिकता दें और इन आसानी से इस्तेमाल में लायी जा सकने वाली टिप्स पर अमल करने की कोशिश करें. इससे आपको अपने आहार से समझौता किए बग़ैर, बेहतर और स्वस्थ खाना खाने में मदद मिलेगी. इसके अलावा, आपका पूरा परिवार एक साथ मिलकर इस तरह के पोषक और स्वास्थवर्धक खाने का लुत्फ़ उठा सकता है!

Loved this article? Don't forget to share it!

Disclaimer: The information we share is verified by experts and scientifically validated. However, it is not a replacement for a doctor’s advice. Please always check with your doctor before trying anything suggested on this website.